Thursday, 3 December 2015

// // Leave a Comment

TERRORISM HAS NO RELIGION In Hindi (आतंकवाद)

मुसलमान आतंकवादी नहीं हैं और आतंकवादी मुसलमान नहीं हैं.
World के History में, कौन सबसे ज्यादा मासूम लोगों को मार डाला:-
1) "HITLER"
क्या आपको पता है वह कौन था?
वह एक Christian था, लेकिन Media वालों ने उसे कभी भी Christians Terrorists नहीं कहा.

2) "JOSEPH STALIN” जिन्हें लोग “Uncle Joe" के नाम से भी जानते हैं.

उसने 20 Million निर्दोष लोगों को मार डाला था जिनमे से 14.5 Million लोग भूखे थे.
क्या वह मुसलमान था? बिल्कुल नहीं !!!

3) "MAO TSE TSUNG (China)" 

उसने 14 से 20 Million निर्दोष लोगों को मार डाला था. 
क्या वह मुसलमान था?

4) "BENITO MUSSOLINI (Italy)"

उसने 400 हजार निर्दोष लोगों को मार डाला था.
क्या वह मुसलमान था?

5) " Ashok" 

कलिंग युद्ध में उसने 100 हजार निर्दोष लोगों को मार डाला था.
क्या वह मुसलमान था?

6) George Bush 

उसके द्वारा IRAQ में घाटबंधी (Embargo) डाला गया था उसने अकेले 1/2 Million Children को IRAQ में मार दिया था !!!

कल्पना कीजिए कि इन लोगों को Media द्वारा कभी भी आतंकवादी नहीं बुलाया जाता है.

क्यों???

आज बहुत से गैर-मुसलमानों को "JIHAAD" शब्द सुनने से ही डर लगने लगता हैं. “JIHAAD” एक Arabic Word है, जिसका स्रोत “JAHADA” है. जिसका Meaning प्रयास करना, संघर्ष करना "To Strive" या "To Struggle" बुराई के विरुद्ध न्याय के लिए लड़ना होता है. इसका यह मतलब नहीं होता है कि निर्दोष लोगों कि हत्या कि जाए.

“JIHAAD” को इस तरह भी Defined किया जा सकता है कि " बुराई के साथ नहीं बल्कि बुराई के खिलाफ खड़ा होना ”

अगर आप अभी भी यह सोचते हैं कि Islam ही Problem है? 

तो जरा गौर से पढ़ें:
1. First World War में, 17 Million लोग मारे गये
(गैर-मुस्लिम के कारण).
2. Second World War में, 50 से 55 Million लोग मारे गये
(गैर-मुस्लिम के कारण).
3. NAGASAKI Atomic Bombs (परमाणु बम) धमाके में 2 लाख लोग मारे गये
(गैर-मुस्लिम के कारण).
4. VIETNAM के युद्ध में 5 Million लोगों का कत्लेआम किया गया 
(गैर-मुस्लिम के कारण)
5. BOSNIA/KOSOVO के युद्ध में 5 लाख से अधिक लोग मारे गये 
(गैर-मुस्लिम के कारण)
6. IRAQ में युद्ध: (अब तक) 1 करोड़ 20 लाख लोगों की मृत्यु
(गैर-मुस्लिम के कारण).
7. AFGHANISTAN, IRAQ, PALESTINE, BURMA इत्यादि देशों में बहुत से मासूम लोगों मरे गये जिनकी कोई गिनती नहीं हो सकती है 
(गैर-मुस्लिम के कारण).
8. Cambodia (1975-1979) में लगभग 3 Million लोगों की मृत्यु हुई थी 
(गैर-मुस्लिम के कारण).

किसी भी धर्म को आतंकवाद से जोड़ कर नहीं देखना चाहिए, बल्कि यह कोशिश होनी चाहिए कि Double Standards Killings System को ही हटा दिया जाए.


“कोई मजहब आतंक फ़ैलाने का सबक नहीं सिखाता
मासूमों को मरना, खून बहाने का सबक नहीं सिखाता
हिंदू हो या मुस्लमान, सिख हो या ईसाई, सब अमन चाहते हैं
कोई मजहब आतंक फ़ैलाने का सबक नहीं सिखाता”



अगर यह Article आपको अच्छा लगे तो Comment के माध्यम से

हमे बताने की कोशिस जरुर करें.

0 comments:

Post a comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...