Friday, 18 March 2016

// // Leave a Comment

Professor (Dr.) Pushpendra Kumar Arya: प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य

प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य

Few Lines about Professor (Dr.) Pushpendra Kumar Arya: प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य के बारे में कुछ बातें 

In Hindi:

प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य देश के वरिष्ठ लेखक, पत्रकार, मार्गदर्शक, विचारक एवम् शिक्षाविद् के रूप में विख्यात है. पत्र-पत्रिकाओं और रिसर्च जर्नल्स (Research Journals) में पुष्पेन्द्र कुमार आर्य के तीन हज़ार से भी अधिक रचनाएँ तथा विविध महत्वपूर्ण विषयों पर चालीस से भी अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं. भारत के विभिन्न राष्ट्रीय समाचार पत्र-पत्रिकाओं के सम्पादकीय विभाग में पुष्पेन्द्र कुमार आर्य शीर्षस्थ पदों पर कार्य कर चुके हैं. पुष्पेन्द्र कुमार आर्य “प्रेस कौंसिल ऑफ़ इंडिया” (Press Council of India) में दो बार “पर्यवेक्षक” (Supervisor) रहे. तीन वर्ष तक भारत के शीर्षस्थ उद्योगपति मुकेश अम्बानी (Mukesh Ambani) के “मिडिया सलाहकार” (Media Advisor) रहे. पुष्पेन्द्र कुमार आर्य “संचार मंत्रालय” (Ministry of Communication) में भी सलाहकार रह चुके हैं. “सांस्कृतिक राजदूत” Cultural Ambassador की हैसियत से पुष्पेन्द्र कुमार आर्य ने लगभग बीस से भी ज्यादा देशों की यात्रा की. Guest Professor के रूप में पुष्पेन्द्र कुमार आर्य दुनिया के विश्वविद्यालय में अध्यापन के हेतु प्रायः जाते रहते है. 
 

प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य को मिले सम्मान और पुरस्स्कारों की सूची: List of Awards 

 

1. वर्ष 1999 में सृजनात्मक लेखन के लिए सर्वोच्च सम्मान “इंटरनेशनल वोकेशनल अवार्ड”.

    (International Vocational Award)

 

2. वर्ष 2002 में ओरिएंटल कल्चर अकादमी, बैंकाक (थाईलैंड) के द्वारा “इंस्टिट्यूट अवार्ड”.

    (Institute Award)

 

3. वर्ष 2003 में अमेरिका बायोग्राफिकल इंस्टिट्यूट इंक, कैरोलिना (अमेरिका) के द्वारा “मैन ऑफ़ द ईयर”. 

    (Man of the Year)

 

4. वर्ष 2004 में विश्व आंदोलन ट्रस्ट, मुंबई द्वारा “राष्ट्र गौरव सम्मान”. 

 

5. वर्ष 2005 में हिंदी संगठन, मॉरिशस का “हिंदी सम्मान”. 

 

6. वर्ष 2010 में हिंदी अकादमी, दिल्ली सरकार के द्वारा “साहित्य कृति पुरस्कार”. 

 
सल्तनत ऑफ़ ओमान के “निशान-ए-मस्कट” समेत लगभग 45 सम्मानों से पुष्पेन्द्र कुमार आर्य को सम्मानित किया जा चुका है. पुष्पेन्द्र कुमार आर्य को अत्यंत प्रतिष्ठित प्रत्यायिक पत्रकार (Accredited Journalist) की श्रेणी और “गृह मंत्रालय तथा सुचना एवं प्रसार मंत्रालय, भारत सरकार” (Ministry of Home Affairs  and The Ministry of Information and Advertising, the Government of India)के द्वारा प्रदत्त सम्मान प्रमुख हैं. 
 

Change Your Destiny By Pro. P.K. Arya : बदलिए अपनी किस्मत – प्रो. पी. के. आर्य 

 

इस जीवन में हरेक इन्सान का अपना सपना होता है कि वह भी सफल (Success) हो. जिंदगी में जो सुख-सुविधाएँ लोग भोग रहें हैं, वह भी उनका उपभोग करें. प्रत्येक व्यक्ति उन्नति के शिखर पर पहुँचने का भरसक कोशिस भी करता है. लेकिन जीवन और जगत की जटिलताओं के कारण, उपभोगता संस्कृति के फैलाव, Fast-Life, सामाजिक और राजनितिक भ्रष्टाचार, प्रतिस्पर्धा, आपाधापी, चरम आधुनिकता एवं व्यावसायिक होड़ के कारण व्यक्ति सफलता और उन्नति की खोज में दौड़ते-दौड़ते थक जाता है. 
 
मंजिल तक नहीं पहुँच पाने की स्थिति में हताश और निराश होकर वह अपने मन में अनजाना डर और चिंता बैठा लेता है. कभी-कभी तो इन्सान खुद को इतना टुटा हुआ महसूस करता है कि उसके मन में यह सोंच घर कर जाती है कि वह कभी सफल हो ही नहीं सकता...!!! 
 
कामयाबी के रास्ते उसे अपने से दूर, बहुत दूर लगने लगते हैं. वह हर समय अपने आपको मनहूस व बदकिस्मत समझने लगता है. उसे लगता है कि उसका जीवन इस धरती पर बोझ है. उसे हर तरफ अँधेरा ही अन्दर दिखाई देता है. लेकिन मनुष्य को ऐसे अंधियारों में, निराशा और दुर्भाग्य के बियाबान जंगल में नहीं छोड़ा जा सकता. वह संसार का जीवित प्राणी है. उसके भीतर सवोत्तम बनने की संभावनाएँ छुपी पड़ी है. हरेक व्यक्ति को उन्नति करने और सफल होने का अधिकार है. इसके लिए उनके अंतर आत्मा को जगाना होगा. उसमें जितनी भी कमजोरियां व बुराइयाँ हैं उन्हें दूर करके उसे उत्साही और जागरूक इन्सान बनाना होगा. उसमें छाई हुई कुंठा को परास्त करके उसकी सुप्त शक्तियों को जागृत करना होगा. यही समूचे सभ्य तथा शिष्ट समाज का कर्तव्य है. 

सफलता की ख़ुशी मानना अच्छा है, पर उससे ज़रूरी है- अपनी असफलता से सीख लेना.


Note:

 
आपको प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य के बारे में यह Post कैसा लगा हमें जरुर बतलाएँ. अपने दोस्तों को Facebook और Whatsaap पे Share करें...!!!

0 comments:

Post a comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...