Showing posts with label Biography. Show all posts
Showing posts with label Biography. Show all posts

Friday, 18 March 2016

// // Leave a Comment

Professor (Dr.) Pushpendra Kumar Arya: प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य

प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य

Few Lines about Professor (Dr.) Pushpendra Kumar Arya: प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य के बारे में कुछ बातें 

In Hindi:

प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य देश के वरिष्ठ लेखक, पत्रकार, मार्गदर्शक, विचारक एवम् शिक्षाविद् के रूप में विख्यात है. पत्र-पत्रिकाओं और रिसर्च जर्नल्स (Research Journals) में पुष्पेन्द्र कुमार आर्य के तीन हज़ार से भी अधिक रचनाएँ तथा विविध महत्वपूर्ण विषयों पर चालीस से भी अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं. भारत के विभिन्न राष्ट्रीय समाचार पत्र-पत्रिकाओं के सम्पादकीय विभाग में पुष्पेन्द्र कुमार आर्य शीर्षस्थ पदों पर कार्य कर चुके हैं. पुष्पेन्द्र कुमार आर्य “प्रेस कौंसिल ऑफ़ इंडिया” (Press Council of India) में दो बार “पर्यवेक्षक” (Supervisor) रहे. तीन वर्ष तक भारत के शीर्षस्थ उद्योगपति मुकेश अम्बानी (Mukesh Ambani) के “मिडिया सलाहकार” (Media Advisor) रहे. पुष्पेन्द्र कुमार आर्य “संचार मंत्रालय” (Ministry of Communication) में भी सलाहकार रह चुके हैं. “सांस्कृतिक राजदूत” Cultural Ambassador की हैसियत से पुष्पेन्द्र कुमार आर्य ने लगभग बीस से भी ज्यादा देशों की यात्रा की. Guest Professor के रूप में पुष्पेन्द्र कुमार आर्य दुनिया के विश्वविद्यालय में अध्यापन के हेतु प्रायः जाते रहते है. 
 

प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य को मिले सम्मान और पुरस्स्कारों की सूची: List of Awards 

 

1. वर्ष 1999 में सृजनात्मक लेखन के लिए सर्वोच्च सम्मान “इंटरनेशनल वोकेशनल अवार्ड”.

    (International Vocational Award)

 

2. वर्ष 2002 में ओरिएंटल कल्चर अकादमी, बैंकाक (थाईलैंड) के द्वारा “इंस्टिट्यूट अवार्ड”.

    (Institute Award)

 

3. वर्ष 2003 में अमेरिका बायोग्राफिकल इंस्टिट्यूट इंक, कैरोलिना (अमेरिका) के द्वारा “मैन ऑफ़ द ईयर”. 

    (Man of the Year)

 

4. वर्ष 2004 में विश्व आंदोलन ट्रस्ट, मुंबई द्वारा “राष्ट्र गौरव सम्मान”. 

 

5. वर्ष 2005 में हिंदी संगठन, मॉरिशस का “हिंदी सम्मान”. 

 

6. वर्ष 2010 में हिंदी अकादमी, दिल्ली सरकार के द्वारा “साहित्य कृति पुरस्कार”. 

 
सल्तनत ऑफ़ ओमान के “निशान-ए-मस्कट” समेत लगभग 45 सम्मानों से पुष्पेन्द्र कुमार आर्य को सम्मानित किया जा चुका है. पुष्पेन्द्र कुमार आर्य को अत्यंत प्रतिष्ठित प्रत्यायिक पत्रकार (Accredited Journalist) की श्रेणी और “गृह मंत्रालय तथा सुचना एवं प्रसार मंत्रालय, भारत सरकार” (Ministry of Home Affairs  and The Ministry of Information and Advertising, the Government of India)के द्वारा प्रदत्त सम्मान प्रमुख हैं. 
 

Change Your Destiny By Pro. P.K. Arya : बदलिए अपनी किस्मत – प्रो. पी. के. आर्य 

 

इस जीवन में हरेक इन्सान का अपना सपना होता है कि वह भी सफल (Success) हो. जिंदगी में जो सुख-सुविधाएँ लोग भोग रहें हैं, वह भी उनका उपभोग करें. प्रत्येक व्यक्ति उन्नति के शिखर पर पहुँचने का भरसक कोशिस भी करता है. लेकिन जीवन और जगत की जटिलताओं के कारण, उपभोगता संस्कृति के फैलाव, Fast-Life, सामाजिक और राजनितिक भ्रष्टाचार, प्रतिस्पर्धा, आपाधापी, चरम आधुनिकता एवं व्यावसायिक होड़ के कारण व्यक्ति सफलता और उन्नति की खोज में दौड़ते-दौड़ते थक जाता है. 
 
मंजिल तक नहीं पहुँच पाने की स्थिति में हताश और निराश होकर वह अपने मन में अनजाना डर और चिंता बैठा लेता है. कभी-कभी तो इन्सान खुद को इतना टुटा हुआ महसूस करता है कि उसके मन में यह सोंच घर कर जाती है कि वह कभी सफल हो ही नहीं सकता...!!! 
 
कामयाबी के रास्ते उसे अपने से दूर, बहुत दूर लगने लगते हैं. वह हर समय अपने आपको मनहूस व बदकिस्मत समझने लगता है. उसे लगता है कि उसका जीवन इस धरती पर बोझ है. उसे हर तरफ अँधेरा ही अन्दर दिखाई देता है. लेकिन मनुष्य को ऐसे अंधियारों में, निराशा और दुर्भाग्य के बियाबान जंगल में नहीं छोड़ा जा सकता. वह संसार का जीवित प्राणी है. उसके भीतर सवोत्तम बनने की संभावनाएँ छुपी पड़ी है. हरेक व्यक्ति को उन्नति करने और सफल होने का अधिकार है. इसके लिए उनके अंतर आत्मा को जगाना होगा. उसमें जितनी भी कमजोरियां व बुराइयाँ हैं उन्हें दूर करके उसे उत्साही और जागरूक इन्सान बनाना होगा. उसमें छाई हुई कुंठा को परास्त करके उसकी सुप्त शक्तियों को जागृत करना होगा. यही समूचे सभ्य तथा शिष्ट समाज का कर्तव्य है. 

सफलता की ख़ुशी मानना अच्छा है, पर उससे ज़रूरी है- अपनी असफलता से सीख लेना.


Note:

 
आपको प्रोफ़ेसर (डॉ.) पुष्पेन्द्र कुमार आर्य के बारे में यह Post कैसा लगा हमें जरुर बतलाएँ. अपने दोस्तों को Facebook और Whatsaap पे Share करें...!!!

Read More

Tuesday, 15 March 2016

// // 2 comments

Dr. A. P. J. Abdul Kalam in Hindi

Dr. A. P. J. Abdul Kalam in Hindi

About Dr. A. P. J. Abdul Kalam in Hindi:

जब दुनिया के महान शखसियतों का नाम लिया जाता है तो हम हिन्दुस्तानियों के जुबान पर सबसे पहले जो नाम आता है जिसे दुनिया “Dr. A. P. J. Abdul Kalam” के नाम से जानती है. जिन्होंने आपना नाम महान शखसियतों में अपने महान कार्यों, लगन और मेहनत से जोड़ा है. तो चलिए आज हमलोग भारत के 11th राष्ट्रपति Dr. A. P. J. Abdul Kalam के बारे में कुछ जानते हैं. मैंने Internet और किताबों की मदद से कुछ जानकारी हासिल की है, जो मैं आपके साथ Shear कर रहा हूँ. Dr. A. P. J. Abdul Kalam जैसे अंतरिक्ष विज्ञान के महान वैज्ञानिक के बारे में कुछ जानकारी आप के साथ बाँट कर मुझे बहुत खुशी हो रही है. मैं आशा करता हूँ कि ये जानकारी आपको जीवन में Success (सफ़ल) होने की राह दिखलाएगी.
 

Biograpy of Dr. A. P. J. Abdul Kalam: डॉ. ऐ पी जे अब्दुल कलाम की जीवनी


पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम
जन्म 15th अक्टूबर 1931
रामेश्वरम, रमानाथपुरम जिला, ब्रिटिश राज (मौजूदा तमिलनाडु, भारत)
मृत्यु 27th जुलाई 2015 (उम्र 83)
शिलोंग, मेघालय, भारत
विद्या सेंट जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली
अर्जन मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
पेशा प्रोफेसर, लेखक, वैज्ञानिक एयरोस्पेस इंजीनियर
धर्म इस्लाम
वेबसाइट abdulkalam.com

Life Story of  “Dr. A. P. J. Abdul Kalam” in Hindi:

Abdul Kalam का जन्म 15th October 1931 को धनुषकोडी गाँव (रामेश्वरम, तमिलनाडु) में एक मध्यमवर्ग Muslim Family में हुआ. इनके Father जैनुलाब्दीन न तो ज़्यादा Educated नहीं थे, न ही Richest Man थे. इनके पिता मछुआरों को नाव किराये पर दिया करते थे. Abdul Kalam पुरे परिवार वालों के साथ रहते थे. उनके Family Member का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है, कि Abdul Kalam के स्वयं पाँच भाई एवं पाँच बहन थे और घर में तीन परिवार साथ में रहते थे.  Abdul Kalam के जीवन पर इनके पिता का बहुत प्रभाव रहा. वे भले ही पढ़े-लिखे नहीं थे, लेकिन उनकी लगन और उनके दिए संस्कार अब्दुल कलाम के बहुत काम आए. पाँच वर्ष की अवस्था में रामेश्वरम के पंचायत प्राथमिक विद्यालय में उनका दीक्षा-संस्कार हुआ था. उनके शिक्षक इयादुराई सोलोमन ने उनसे कहा था कि-

"जीवन मे सफलता तथा अनुकूल परिणाम प्राप्त करने के लिए तीव्र इच्छा, आस्था, अपेक्षा इन तीन शक्तियो को भलीभाँति समझ लेना और उन पर प्रभुत्व स्थापित करना चाहिए."

Abdul Kalam ने अपनी आरंभिक शिक्षा जारी रखने के लिए News Paper वितरित करने का कार्य भी किया. कलाम ने 1958 में मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलजी से अंतरिक्ष विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की. स्नातक होने के बाद उन्होंने हावरक्राफ्ट परियोजना पर काम करने के लिये भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संस्थान में प्रवेश किया. 1962 में वे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में आये जहाँ उन्होंने सफलतापूर्वक कई उपग्रह प्रक्षेपण परियोजनाओं में अपनी भूमिका निभाई. परियोजना निदेशक के रूप में भारत के पहले स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान एसएलवी 3 के निर्माण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई जिससे जुलाई 1982 में रोहिणी उपग्रह सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया था.

पुरस्कार एवं सम्मान:

Dr. A. P. J. Abdul Kalam के 79th Birthday को United State के द्वारा World Student Day के रूप में मनाया गया था. इसके आलावा उन्हें लगभग 40 University के द्वारा "मानद डॉक्टरेट" की उपाधियाँ प्रदान की गयी थीं. भारत सरकार (Govt. of India) के द्वारा उन्हें 1981 में "पद्म भूषण" और 1990 में "पद्म विभूषण" का सम्मान प्रदान किया गया, जो उनके द्वारा ISRO और DRDO में कार्यों के दौरान वैज्ञानिक उपलब्धियों के लिये तथा भारत सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार के रूप में कार्य हेतु प्रदान किया गया था.
1997 में Dr. A. P. J. Abdul Kalam साहब को भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान "भारत रत्न" प्रदान किया गया. जो उनके वैज्ञानिक अनुसंधानों और भारत में तकनीकी के विकास में अभूतपूर्व योगदान हेतु दिया गया था.
वर्ष 2005 में Switzerland की Govt. ने Dr. A. P. J. Abdul Kalam के Switzerland आगमन के उपलक्ष्य में 26th May को "विज्ञान दिवस" घोषित किया. नेशनल स्पेस सोशायटी ने वर्ष 2013 में उन्हें अंतरिक्ष विज्ञान सम्बंधित परियोजनाओं के कुशल संचलन और प्रबंधन के लिये "वॉन ब्राउन अवार्ड" से पुरस्कृत किया.


सम्मान का वर्ष
सम्मान/पुरस्कार का नाम
प्रदाता संस्था
1981 पद्म भूषण भारत सरकार
1990 पद्म विभूषण भारत सरकार
1994 विशिष्ट शोधार्थी इंस्टीट्यूट ऑफ़ डायरेक्टर्स (INDIA)
1997 भारत रत्न भारत सरकार
1997 इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस
1998 वीर सावरकर पुरस्कार भारत सरकार
2000 रामानुजन पुरस्कार अल्वार्स शोध संस्थान, चेन्नई
2007 डॉक्टर ऑफ साइन्स की मानद उपाधि वूल्वरहैंप्टन विश्वविद्यालय, United Kingdom
2007 किंग चार्ल्स II मेडल रॉयल सोसायटी, United Kingdom
2007 डॉक्टर ऑफ साइन्स एण्ड टेक्नोलॉजी की मानद उपाधि कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय
2008 डॉक्टर ऑफ साइन्स (मानद उपाधि) अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
2008 डॉक्टर ऑफ इन्जीनियरिंग (मानद उपाधि) नानयांग टेक्नोलॉजिकल विश्वविद्यालय, सिंगापुर
2009 वॉन कार्मन विंग्स अन्तर्राष्ट्रीय अवार्ड कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, (U.S.A.)
2009 हूवर मेडल A.S.M.I. फाउण्डेशन, (U.S.A.)
2009 मानद डॉक्टरेट ऑकलैंड विश्वविद्यालय
2010 डॉक्टर ऑफ इन्जीनियरिंग यूनिवर्सिटी ऑफ़ वाटरलू
2011 आइ॰ई॰ई॰ई॰ मानद सदस्यता I.E.E.E
2012 डॉक्टर ऑफ़ लॉज़ (मानद उपाधि) साइमन फ़्रेज़र विश्वविद्यालय
2014 डॉक्टर ऑफ़ साइन्स एडिनबर्ग विश्वविद्यालय, यूनाइटेड किंगडम

Top 10 Quotes of A. P. J. Abdul Kalam in Hindi: ऐ पी जे अब्दुल कलाम के 10 सर्वश्रेष्ठ अनमोल वचन

Quote 1.
महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 2.
भगवान, हमारे निर्माता ने हमारे मष्तिष्क और व्यक्तित्व में असीमित शक्तियां और क्षमताएं दी हैं. इश्वर की प्रार्थना हमें इन शक्तियों को विकसित करने में मदद करती है.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 3.
यदि हम स्वतंत्र नहीं हैं तो कोई भी हमारा आदर नहीं करेगा.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 4.
क्या हम यह नहीं जानते कि आत्म सम्मान आत्म निर्भरता के साथ आता है ?
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 5.
मैं हमेशा इस बात को स्वीकार करने के लिए तैयार था कि मैं कुछ चीजें नहीं बदल सकता.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 6.
इंतज़ार करने वालो को सिर्फ उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते है.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 7.
एक अच्छी पुस्तक हज़ार दोस्तों के बराबर होती है जबकि एक अच्छा दोस्त एक Library (पुस्तकालय) के बराबर होता है.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 8.
कृत्रिम सुख की बजाये ठोस उपलब्धियों के पीछे समर्पित रहिये.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 9.
शिखर तक पहुँचने के लिए ताकत चाहिए होती है, चाहे वो माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या आपके पेशे का.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
Quote 10.
भारत में हम बस मौत, बीमारी , आतंकवाद और अपराध के बारे में पढ़ते हैं.
Dr. A. P. J. Abdul Kalam
 

Note:

आपको Dr. A. P. J. Abdul Kalam Quotes और Life Story of Dr. A. P. J. Abdul Kalam कैसा लगा. हमें जरुर लिखें और अपने दोस्तों को Whatsaap और Facebook पर Shear करे.
इस Post में कहीं भी कोई गलती नज़र आए तो हमें जरुर बतलाएँ. उसे ठीक करने की पूरी कोशिस कि जाएगी.
Read More

Wednesday, 17 February 2016

// // Leave a Comment

Bruce Lee Quotes in Hindi : ब्रूस ली के अनमोल वचन

Bruce Lee Quotes in Hindi
दुनिया के सबसे मशहूर कराटेबाज़ों के नाम पर हम सब के जुबान पर सबसे पहले एक ही नाम आता है, जिसे दुनिया- Bruce Lee (ब्रूस ली) के नाम से जानती है. Bruce Lee ब्रूस ली की सकसियत बहुत ही मशहूर है जिन्होंने मार्शल आर्ट में अपनी महारत हासिल की और उन्होंने दुनिया के मशहूर हस्तियों के List में अपना नाम जोड़ दिया. 
ब्रूस ली का केनटोनी में दिया गया नाम था- ली जुन फैन. जन्म के समय, अंग्रेजी नाम “ब्रूस” Hospital में उपस्थित चिकित्सक, डॉ. मैरी ग्लोवर द्वारा जाने का अनुमान है. 

Biography of Bruce Lee: ब्रूस ली की जीवनी 

पूरा नाम                            Lee Jun Fan 李 振 藩

जन्म                                27 November, 1940 

                                        (Chinatown, San Francisco, California, United States)

मृत्यु                                 20 July, 1973 

                                        (Kowloon Tong, Hong Kong)

कद                                   5 Ft. 7 Inch (1.70 Meter) 

जीवनसाथी (पत्नी)            Linda Emery 

संतान                               Brandon Lee 

                                        Shannon Lee 

Bruce Lee Website: 

Bruce Lee Foundation (www.bruceleefoundation.com

The Official Website of Bruce Lee (www.brucelee.com


Bruce Lee was a Hong Kong American martial artist, action film actor, martial arts instructor, philosopher, filmmaker, and the founder of Jeet Kune Do. Lee was the son of Cantonese opera star Lee Hoi-Chuen.  

Best Bruce Lee Quotes in Hindi : ब्रूस ली के अनमोल वचन

 1 to 10 Bruce Lee Quotes in Hindi

Quote 1. 

दूसरों की आलोचना करना और उनकी भावना को ठेस पहुँचाना आसान है, लेकिन खुद को जानना पूरी ज़िन्दगी ले लेता है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 2. 

अगर तुम कल फिसलना नहीं चाहते तो आज सच बोल दो. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 3. 

एक आसान जीवन के लिए प्रार्थना मत करो , ऐसी शक्ति के लिए प्रार्थना करो जिससे एक कठिन जीवन जी सको. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 4. 

ये रोज का बढ़ना नहीं बल्कि रोज का घटना है, जो बेकार है उसे हटा दो. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 5. 

सचमुच जीना दूसरों के लिए जीना है.
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 6. 

जो अनभिज्ञ हैं कि वे अँधेरे में चल रहे हैं वे कभी प्रकाश की तलाश नहीं करेंगे. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 7. 

जैसा आप सोचते हैं , वैसा आप बन जायेंगे. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 8. 

चीजों को ऐसे लें जैसी वे हैं. जब घूँसा मारना हो तब घूंसा मारें. जब लात मारनी हो लात मारें. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 9. 

ध्यान दीजिये कि सबसे कठोर पेड़ सबसे आसानी से टूट जाते हैं, जबकि , बांस या विलो हवा के साथ मुड़कर बच जाते है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 10. 

यदि आप किसी चीज के बारे में सोचने में बहुत अधिक समय लगाते हैं, तो आप उसे कभी कर नहीं पाएंगे. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

11 to 20 Bruce Lee Quotes in Hindi

Quote 11. 

मैं इस दुनिया में आपकी उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए नहीं हूँ और आप इस दुनिया में मेरी उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए नहीं हैं. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 12. 

मैं उस आदमी से नहीं डरता जिसने 10,000 Kicks की Practice एक बार की हो, बल्कि मैं उस आदमी से डरता हूँ, जिसने एक Kick की Practice 10,000 बार की हो.
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 13. 

बात ये है कि बहता हुआ पानी कभी सड़ता नही है, इसलिए बस बहते रहो. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 14. 

जानना काफी नहीं है, हमें उसे लागू करना चाहिए. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 15. 

शक करने वाले बोले,“आदमी उड़ नहीं सकता”… 
काम करने वाले बोले, हो सकता है , लेकिन हम प्रयास करेंगे… 
और आखिरकार एक चमकती सुबह वे ऊपर उड़ गए… 
जबकि शक करने वाले नीचे से देखते रह गए…!!! 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 16. 

गलतियां हमेशा क्षमा की जा सकती हैं , यदि आपके पास उन्हें स्वीकारने का साहस हो. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 17. 

सभी ज्ञान आत्म-ज्ञान की ओर ले जाता है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 18. 

असफलता से डरो मत, असफलता नहीं बल्कि छोटा लक्ष्य बनाना अपराध है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 19. 

हमेशा अपने वास्तिक रूप में रहो , खुद को व्यक्त करो , स्वयं में भरोसा रखो , बाहर जाकर किसी और सफल व्यक्तित्व को मत तलाशो और उसकी नक़ल मत करो. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 20. 

खुश रहो लेकिन कभी संतुष्ट मत रहो. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

21 to 30 Bruce Lee Quotes in Hindi

Quote 21. 

अमरता की कुंजी पहले एक याद रखने लायक जीवन जीने में हैं. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 22. 

जितना एक मूर्ख व्यक्ति किसी बुद्धिमानी भरे उत्तर से नहीं सीख सकता उससे अधिक एक बुद्धिमान एक मूर्खतापूर्ण प्रश्न से सीख सकता है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 23. 

जीवन की लड़ाई में हमेशा शक्तिशाली या तेज व्यक्ति नहीं जीतता. बल्कि अभी या बाद में जो जीतता है वो होता है, जो सोचता है कि वो जीत सकता है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 24. 

अगर आप हर चीज में अपने लिए एक सीमा निर्धारित कर देंगे, शारीरिक या कुछ और वो आपके काम, आपके जीवन मे फ़ैल जायेगा. कोई सीमाएं नहीं हैं. सिर्फ पठार हैं, और आपको वहाँ रुकना नहीं है, आपको उनसे आगे जाना है. 
Bruce Leeब्रूस ली 

Quote 25. 

हालात भाड़ में जाए, मैं अवसरों का निर्माण करता हूँ. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 26. 

अगर आप अपनी ज़िन्दगी से प्यार करते हैं तो वक़्त मत बर्वाद करें, क्योंकि वो वक़्त ही है जिससे
ज़िन्दगी बनी होती है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 27. 

दिखावा करना किसी मूर्ख का अपना महत्त्व दिखाने का तरीका है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 28. 

ज्ञान आपको शक्ति देगा ,लेकिन चरित्र सम्मान देगा. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 29. 

एक अच्छा शिक्षक अपने ही प्रभाव से अपने विद्यार्थियों को बचाता है. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 30. 

जल्दी गुस्सा करना जल्द ही आपको मूर्ख साबित कर देगा. 
Bruce Lee ब्रूस ली 

30 to 33 Bruce Lee Quotes in Hindi

Quote 31. 

जितना अधिक हम चीजों को महत्त्व देते हैं उतना कम हम खुद को मान देते हैं. 
Bruce Lee ब्रूस ली

Quote 32. 

इच्छा रखना काफी नहीं है , हमें करना चाहिए.
Bruce Lee ब्रूस ली 

Quote 33.

महान प्रयासों में असफल होना भी शानदार होता है.
Bruce Lee ब्रूस ली

Note: Comment के माध्यम से हमें जरुर बतलाएं कि  Bruce Lee Quotes in Hindi पर यह Post आपको कैसा लगा...???



Read More

Wednesday, 10 February 2016

// // 2 comments

Abraham Lincoln Quotes in Hindi "अब्राहम लिंकन के अनमोल वचन"

Abraham Lincoln Quotes in Hindi "अब्राहम लिंकन के अनमोल वचन"
विश्व प्रसिद्ध नेता और अमेरिकी राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के जीवन से जुड़े अनमोल वचन प्रसारित किया जा रहा है. इन अच्छी बातों को सीखें और अपने जीवन में इसका उपयोग करें. ये अच्छी बातें आपको जीवन में Success होने का रास्ता दिखा सकती है...!!! 

Abraham Lincoln Biography: अब्राहम लिंकन की जीवनी: 

Abraham Lincoln was 16th President of the United States of America. 

पूरा नाम:                    Abraham Thomas Lincoln. 

जन्म:                         February 12, 1809, 

जन्म स्थान:             Hodgenville, Kentucky, United States 

पिता:                         Thomas Lincoln. 

माता:                        Nancy 

ऊंचाई:                      6 Ft. 4 Inch

विवाह:                      Merry Tide के साथ (1842 ई. में) 

बच्चे:                       William Wallace Lincoln, Robert Todd Lincoln,

                                Tad Lincoln, Edward Baker Lincoln. 


Abraham Lincoln Quotes: अब्राहम लिंकन के अनमोल वचन: 

Quote 1. 

हमेशा ध्यान में रखिये की आपका सफल होने का संकल्प किसी भी और संकल्प से महत्त्वपूर्ण है.
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 2.

यदि आप एक बार अपने साथी नागरिकों का भरोसा तोड़ दें , तो आप फिर कभी उनका सत्कार और सम्मान नहीं पा सकेंगे. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 3. 

अगर शांती चाहते हैं तो लोकप्रियता से बचिए . 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 4. 

मित्र वो है जिसके शत्रु वही हैं जो आपके शत्रु हैं . 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 5. 

अगर कुत्ते की पूँछ को पैर कहें , तो कुत्ते के कितने पैर हुए ? चार . पूछ को पैर कहने से वो पैर नहीं हो जाती .
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 6. 

औरत ही एक मात्र प्राणी है जिससे मैं ये जानते हुए भी की वो मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी , डरता हूँ . 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 7. 

साधारण दिखने वाले लोग ही दुनिया के सबसे अच्छे लोग होते हैं : यही वजह है कि भगवान ऐसे बहुत से लोगों का निर्माण करते हैं. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 8. 

तुम जो भी हो, नेक बनो. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 9. 

मैं जो भी हूँ , या होने की आशा करता हूँ , उसका श्रेय मेरी माँ को जाता है . 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 10. 

क्या शत्रुओं को अपना मित्र बनाकर मैं उन्हें नष्ट नहीं कर रहा ? 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन

Quote 11. 

साधारण दिखने वाले लोग ही दुनिया के सबसे अच्छे लोग होते हैं : यही वजह है कि ईश्वर ऐसे ही बहुत से लोगों का सृजन करते हैं. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 12. 

किसी वृक्ष को काटने के लिए आप मुझे छ: घंटे दीजिये और मैं पहले चार घंटे कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा . 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 13. 

निश्चित कर लो कि तुम्हारे पैर सही जगह पर पड़े हैं तब सीधे खड़े हो. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 14. 

मैं एक धीमी गति से चलता ज़रूर हूँ, लेकिन कभी वापस नहीं चलता. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 15. 

हमेशा ध्यान में रखिये कि आपके द्वारा सफल होने का लिया गया संकल्प किसी भी अन्य संकल्प से ज्यादा महत्त्वपूर्ण है. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 16. 

प्रजातंत्र जनता का, जनता के द्वारा, और जनता के लिए चुनी गयी सरकार है. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 17. 

यदि शांति चाहते हो तो लोकप्रिय होने से बचो. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन 

Quote 18. 

जब मैं अच्छा करता हूँ, मुझे अच्छा लगता है. जब मैं बुरा करता हूँ, तो मुझे बुरा लगता है. यही मेरा धर्म है. 
Abraham Lincoln अब्राहम लिंकन
Read More

Tuesday, 2 February 2016

// // Leave a Comment

Passion is Direct Way To Success : जुनून : सफलता का सीधा रास्ता...!!!

Passion is Direct Way To Success

Passion is Direct Way To Success:

आज के Young Generation में यह आम तौर पर यह देखा जाता है कि लोग Success होने का Shortcut ढूंढते है पर ऐसा कोई Shortcut है ही नहीं. अगर ऐसा होता तो आज लोग इतने बेरोजगार नहीं होते, सभी को कहीं न कहीं Success मिल ही जाती. 
                   
                   हम अक्सर सुनते हैं कि, “ Success होने के लिए कोई Shortcut नहीं होता, कड़ी मेहनत ही Success होने का राज़ है.” लेकिन, हमारी मेहनत हमारे Dreams पर निर्धारित करती है. मान लीजिए कि यदि कोई व्यक्ति Mumbai जा कर Film Actor बनना चाहे, तो उसे पहले यह समझना होगा कि देश भर से प्रतिदिन कम से कम Five Thousand लोग Mumbai Station पर Film Actor बनने का सपना ले कर उतरते हैं. उन हजारों में से गिने-चुने लोग ही Success हो पाते हैं. सफलता के भी कई आयाम हैं, कुछ आंशिक रूप से सफल हुए, तो कुछ लोग कुछ समय के लिए ही Success हो पाते हैं. तात्पर्य यह है कि इस क्षेत्र को चुनने पर “Risk Factor” काफी ज्यादा है. क्या आप उन हजारों में खुद को गिने-चुने लोगों में ला सकते हैं, जिनके लिए Success का दरवाजा खुल जाये??? 
                  यदि हाँ, तो आगे बढिए. लेकिन इसके लिए जो चीज चाहिए, वह है – “जुनून” आइये, इसे एक सच्ची कहानी से समझते हैं. इस Motivational Story में यह बतलाया गया है कि अगर कोई व्यक्ति Passion और लगन के साथ किसी काम में लग जाए तो उसे सफलता अवश्य ही मिलती है. यह एक True Story है, जो आपको Success होने की रह दिखलाता है.

Way To Success:

                 कई वर्ष पहले मेरठ में Cloth businessman की एक Family रहती थी. व्यापारी के बेटे को गाने-बजाने का शौकीन था. परिवार वाले चाहते थे कि वह प्रारंभिक Studies के बाद Family Business को संभाल ले. लेकिन, लड़के का मन Business में नहीं लगता था. वह अक्सर सोचता कि यदि ईश्वर ने मुझे सुप्रसिद्ध परिवार में जन्म दिया है, यदि मैं Family के Business में ही लग जाऊं, तो इसमें मेरी अपनी उपलब्धि क्या रही???
                    उसने निश्चय किया कि वह अपने दम पर अपनी पहचान बनायेगा. इसके लिए उसने Singer बनना ही Career चुन लिया. फिर उसने एक सच्चे गुरु की खोज की. कई गुरुओं के पास गया, लेकिन मन नहीं भरा. इस बीच Family को Business को लेकर Delhi जाना पड़ा. यहाँ भी Family का बहुत दबाव था कि लड़का Family Business में आ जाए, पर थक हारकर परिवार वालों ने उस लड़के को 2 Year का Ultimatum Time दिया. यदि इन दो सालों में कुछ नहीं कर पाये, तो Family Business में आना पड़ेगा. लड़का मन गया और एक मजबूत इरादे (Strong Wills) के साथ Mumbai की ओर निकल पड़ा. कई गीतकारों और संगीतकारों के पास गया. सबने कहा, आवाज़ तो अच्छी है पर नई आवाज़ के कारण Risk नहीं ले सकते. हालाँकि संगीतकार राम संपत ने लड़के को कहा, “Straggle (संघर्ष) करते रहो, Success अवश्य मिलेगी.” 
               वह जीवन बिताने और अपनी खर्च निकलने के लिए Hotels, Pub, Bar etc. में गाने लगा. शाम से देर रात तक होटलों में गाता और सुबह होते ही काम की तलाश में निकल पड़ता. तभी उसे पता चला कि संगीतकार राम संपत ने एक नामी Jewellery Company के Advertisement के जिंगल के लिए उस लड़के का नाम Offer किया. जिंगल के लिए पांच हज़ार रूपये मिलेंगे. पर शर्त यह भी थी कि अगर जिंगल पसंद नहीं आया तो एक पैसा नहीं मिलेगा. उस लड़के ने तुरंत हामी भर दी. Company को जिंगल बेहद ही पसंद आया. जब इसे Televisions में Broadcast किया गया, तो लाखों लोगों की Positive response आने लगी. Mumbai के एक फिल्म Producer ने उस लड़के को अपनी Film के गाने के लिए Signed किया. Producer की एक शर्त थी कि जब तक Film Release नहीं हो जाती, वह किसी और Film के लिए नहीं गायेगा. अभी Record चल रही थी, तभी उस लड़के को Superstar Shahrukh Khan की Company Dream Entertainment से Phone आया. Company उसे अपनी आगामी Film “चलते-चलते” के लिए Sign करना चाहती थी. वह Agreement के कारण मजबूर था. वह बेहद उदासीन हो कर बैठ गया और स्वयं को कोसने लगा. कुछ माह बाद, जब उस Producer की Film Release हुई, तो Film Flop हो गई, पर उस लड़के का गया हुआ गाना हर किसी के जुबान पर चढ़ गया. वह गाना था, “अल्ला के बन्दे” और उस लड़के का नाम था Kailash Kher.

Kailash Kher:


Kailash Kher ने एक बार कहा था कि, “जिंदगी आपको सब कुछ दे सकता है जिसकी आप Imagination करते हैं, पर उसकी वह भरपूर कीमत वसूलता है. यदि आप वह कीमत चुकाने को तैयार हैं, तो Success भी आपके कदम चूमने के लिए तैयार है.”

Abraham Lincoln: 


America के पूर्व President Abraham Lincoln ने कहा था, “अगर लगने लगे कि आपका लक्ष्य आपको हासिल नहीं हो पायेगा तो लक्ष्य को न बदलें, बल्कि अपने प्रयासों को बदलें.” Abraham Lincoln के इस ब्रह्मवाक्य का अर्थ है कि, “हमें मंजिल दे सकता है, जरुरत है अपने मन के मजबूत विश्वास की.” 

आप भी जुनून और लगन से किसी भी मुकाम को हासिल कर सकते है, लेकिन उसके लिए मेहनत शर्त है.

आपको यह "Way To Success" Post कैसा लगा हमें Comment के माध्यम से जरुर बतलाये...!!!


Read More

Tuesday, 1 December 2015

// // 1 comment

Tipu Sultan एक राष्ट्रप्रेमी Part-2

यह स्पष्ट है कि सच्चाईयों को न देखने वाले इतिहासकार (Historian) एक ऐसी राजनितिक Turf war के व्यापक Situation की अनदेखी कर रहे थे जिसमें friend और enemy की पहचान इस तरह कि जाती थी कि कौन अंग्रेजों के साथ जाता है और कौन साम्राज्यवादी (Imperialistic) अंग्रेज शासकों के चंगुल से स्वतंत्र (Free) रहने के लिए प्रतिबद्ध है. यदि के कुर्गी लोगों और नायरों को दबाने के लिए War आवश्यक था जो Karnataka के नवाबों के Against भी युद्ध लड़े गये जो मुसलमान थे और अंग्रेजों के पिठ्ठू थे. Dr. B. N. Pandey अपनी Book “Aurangzeb And Tipu Sultan: उनकी धार्मिक policies का मुल्यांकन” (Institute of Objective Studies, New Delhi) में लिखते हैं: यदि उसने कूर्ग के हिन्दुओं, मंग्लौर के ईसाईयों और मालाबार के नायरों को कुचला तो यह इस Reality के कारण था कि वे अंग्रेजों के साथ मिलकर Tipu Sultan कि power को कमजोर करना चाहते थे. यदि किसी के अन्दर इस तरह की प्रवृतियाँ महसूस कि चाहे वह मालाबार के मौपिला या महादेवी मुसलमान या सवानूर के नवाब हों या निजाम हैदराबाद हों, उनको भी नहीं बख्शा.

इसलिए Tipu Sultan को चरमपंथी (Extremists) कहना बहुत अधिक गलत है. उनकी कठोरता उन लोगों के प्रति थी जिन्होंने तख्ता पलट करने के लिए अंग्रेजों का साथ दिया, और इस तरह उनकी कठोरता धर्म से Inspired होने के बजाए Politics से Inspired थी.

यदि ऐसा न होता तो Mahatma Gandhi ने Tipu Sultan की प्रशंसा के पुल इस तरह न बंधे होते, “वह हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतिक थे” (Tipu Sultan was a symbol of Hindu-Muslim unity). History को तोड़ने मरोड़ने का एक प्रमुख मामला Dr. B. N. Pandey ने उठाया जो उस समय Orissa के Governor थे. जब उन्होंने कूर्ग में जनता के नरसंहार (Carnage) का उल्लेख पाया तो उन्होंने Mysore Gazetteer से Reference ढूँढना चाहा.

Dr. Pandey का सामना एक History कि Textbook से हुआ जो Allahabad के Eyglo-Bengali College में पढाई जाती थी जिसमें यह Claim किया गया था कि “तीन हजार ब्राह्मणों ने इसलिए Suicide की कि Tipu Sultan बलपूर्वक उन्हें इस्लाम धर्म में ले लाना चाहते थे. इस पुस्तक के लेखक Kolkata University के संस्कृत विभाग के HOD और बहुत प्रसिद्ध विद्वान Dr. Hari Prasad Shastri थे.

Dr. Pandey ने इस Book के Author Dr. Shastri को तुरंत एक Letter लिखा और पूछा कि ये Example उन्हें जिन Source से मिले हैं उनका Reference दें. कई बार याददिहानी करने के बाद Dr. Shastri ने उत्तर दिया कि उन्होंने यह जानकारी Mysore Gazetteer से प्राप्त किया है. इसलिए Dr. Pandey ने उस समय Mysore University के Vice Chancellor Sir Vijender Nath Seal से अनुरोध किया कि उनके लिए Dr. Shastri के कथन की Gazetteer से Confirm करा दें. Sir Vijender ने उनके Letter को Pro. Srikantyya के पास भेजा जो Gazetteer के नए Edition पर काम कर रहे थे. Srikantyya ने Letter लिखकर बताया कि ऐसी किसी घटना का वर्णन नहीं है और एक Historian के रूप में वह आश्वस्त हैं कि इस तरह की कोई घटना घटित नहीं हुई थी. Pro. Srikantyya ने यह भी कहा कि उस समय Tipu Sultan के Prime Minister और Chief Commander दोनों ब्राह्मण थे. उन्होंने 156 मंदिरों कि एक सूची भी संग्लन की जो Tipu Sultan के राजकोष से Annual Funding प्राप्त किया करते थे. Tipu Sultan द्वारा Donation किये हुए एक शिव-लिंग कि पूजा आज भी नानजंगूड़ मंदिर में की जा रही है. श्री रंगापटनम का रंगनाथ मंदिर Tipu Sultan के Palace से काफी निकट था जहाँ से वह मंदिर के घंटे और मस्जिद कि अजानों को समान सम्मान के साथ सुनते थे. (Impact International, London, point 28, July 1998)

बाद में Research से यह मालूम हुआ कि Shastri ने ब्राह्मणों की Suicide की इस कहानी को Kernel Miles की book History of the Mysore से लिया था जिसमे Miles ने यह Claim किया था कि उन्होंने इस book को एक फारसी पाण्डुलिपि से लिया है जो Queen Victoria कि Personal Library में मौजूद है. जब Dr. Pandey ने इसकी भी जाँच की तो उनको पता चला कि Queen Victoria कि Library में ऐसी कोई पाण्डुलिपि मौजूद नहीं. इसके बावजूद Dr. Shastri कि किताब High School कि History कि Textbook के रूप में सात राज्यों Assam, Bengal, Bihar, Orissa, Uttar Pradesh, Rajasthan और Madhya Pradesh में पढाई जा रही थी. इसलिए उन्होंने इस Textbook के बारे में अपने द्वारा किए गये All Communications को Kolkata University के Vice Chancellor Sir Ashutosh Chowdhry के पास भेजा. Sir Ashutosh ने तुरंत Shastri की किताब को Course से निकालने का आदेश दे दिया. इसके बावजूद कई वर्षों बाद सन् 1972 में Dr. Pandey को यह जानकर आश्चर्य हुआ कि Suicide की यही कहानी अब भी Uttar Pradesh के Junior High School की History की book में पढाई जा रही थी. एक झूठ को History कि सच्चाई के रूप में Approval हो गई.

Tipu Sultan द्वारा मंदिरों को दी जाने वाली जागीरों और उपहारों कि संख्या इतनी है कि उनके विस्तार के लिए कई खण्डों कि आवश्यकता होगी. श्रृंगेरी में स्थित प्रसिद्ध मंदिर के अवशेषों से पिछले दशक के दौरान जो Document प्राप्त हुए हैं वह बताते हैं कि Tipu Sultan को यह जानकर बहुत दुःख हुआ कि पेशवा की सेनाओं ने एक मंदिर पर Attack किया था और उन्होंने उस पवित्र स्थान पर मूर्ति का जीर्णोधार “सल्तनत-ए-खुदादाद” के राजकोष से किया. उन्होंने Tamil Nadu के Kanjivaram में एक मंदिर के निर्माण के लिए 10,000 हून नक़द दिया और जब मंदिर बन कर तैयार हो गया तो उसकी रथ यात्रा में भाग लिया. उन्होंने Milcot के दो Communities के बीच Debate का Solution किया और दोनों Side के लोगों ने उनके Judgment को final decision के रूप में Accept किया. डिंडीगल के एक अभियान के अवसर पर उन्होंने आदेश दिया कि South की ओर से गोली न चलायी जाए इसलिए कि राजा का मंदिर वहाँ स्थित था. प्राचीन कन्नड़ साहित्य Tipu Sultan की प्रशंसाओं से भरा हुआ है और इन प्रशंसाओं का प्रदर्शन सीवी (Karnataka के Bangalore जिले में) में स्थित प्रसिद्ध मंदिर कि छत पर मौजूद लेखों में भी हुआ है. Tipu Sultan की प्रशंसा करने वाले आल्हे आज भी प्राचीन Mysore राज्य के देहाती क्षेत्रों में गाए जाते हैं. यह एक सच्चाई है कि मंदिर की छतों पर लिखे गये लेख इस बहादुर शासक की शहादत के 50 वर्ष बाद लिखे गये थे. इससे इस बात की पुष्टि होती है कि जनता के अन्दर मृत्यु के बहुत बाद भी इस शासक के प्रति कितना आदर-सम्मान था. यदि एक शासक से उनकी हिन्दू प्रजा घृणा करती तो उसे यह सम्मान न मिलता कि जनाज़े के समय खून से लथपथ उसके शव के सामने लोग सजदे कर रहे थे. लेकिन History के विवरण बताते हैं कि जिस समय विजेता ब्रिटिश सैनिक श्रीरंगापटनम में स्थित घरों को लूट रहे थे, उनकी हिन्दू प्रजा उसके महल के सामने उसके शव को शोक और विलाप के बीच सजदा करने के लिए कतार लगाए खड़ी थी. (बिस्टन, 1880 इसका उल्लेख मुहम्मद मुइनुद्दीन ने किया है, सन सेट ऐट श्रीरंगापटनम, Orient Logman, 2000) ऐसी आशा उस प्रजा से नहीं की जा सकती जिसका शासक कट्टर अत्याचारी हो.



                                                        “जो लड़ा था सिपाहियों की तरह

                                                      ऐसा भारत में कोई बादशाह न हुआ

                                                         रूह तो हो गई थी तन से जुदा

                                                          हाथ तलवार से जुदा न हुआ”
Related Post: Tipu Sultanएक राष्ट्रप्रेमी Part-1

अगर यह Article आपको अच्छा लगे तो Comment के माध्यम से

हमे बताने की कोशिस जरुर करें.
Read More
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...